गाय के मूत्र के पीछे विज्ञान

cow urine scientific evidence

गाय के मूत्र के पीछे विज्ञान

अभी हाल ही में, बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार और जोखिम से खेलने वाले बेयर ग्रिल्स का प्रोग्राम आया, तो जाहिर सी बात है की आप सबने एन्जॉय तो किया ही होगा। जब भी में अक्षय कुमार के बारे में सोचता हूँ तो अक्सर उनके जीवन के संघर्ष, जैसे वेटर का काम करना, साथ ही मार्शल आर्ट सीखना, चैरिटी के लिए काम करना, आदि बातों को जानने के बाद शायद आपके रोंगटे खड़े तो ज़रूर हो जाते होंगे।

भारत के, बांदीपुर के, पश्चिमी घाट पर खतरनाक मगरों से भरी नदी पार करना, वास्तव में एक रोमांचक अनुभव रहा। साथ ही बेयर ग्रिल्स का हाथी की लीद से बनी चाय पीना और बॉलीवुड के एक्शन हीरो अक्षय कुमार का इस रहस्य से पर्दा उठाना कि वे रोज़ गोमूत्र पीते हैं, क्योंकि इसके बहुत सारे मेडिकल बेनिफिट हैं।

इसी तरह स्व. श्री मोरारजी देसाई, और उनकी स्वमूत्र चिकित्सा के बारे में काफी किस्से सुने जाते थे। वे यूरीन थेरेपी या स्वमूत्र चिकित्सा के अत्यंत सकारात्मक पक्षधर थे और स्वयं स्वमूत्र चिकित्सा पर प्रयोग करते थे।

अब आप सोचिये  कि  हमारे शरीर से निकला हुआ अपशिष्ट पदार्थ स्वयं हमारे लिए कितना  उपयोगी है, यहाँ तक, कि, जब किसी को जंग लगे लोहे से खरोंच या चोट लग जाती थी, तब यदि तुरंत ही अपने मूत्र से उसे धोने से सेप्टिक या कोई रिएक्शन नहीं होता, गाँव के पुराने लोग आज भी इस बात को जानते हैं।

इसके साथ साथ आयुर्वेद में गोमूत्र का अत्यंत विशिष्ट स्थान है, और मुझे पूरा विश्वास है कि आज के इस इंटरनेट की दुनिया में पैदा हुए लोग इस बात को बिलकुल नहीं जानते। आज के समय में इसके प्रमाणित वैज्ञानिक तथ्य हैं। आपको ये भी नहीं पता होगा कि इसके क्या क्या लाभ हैं:

गोमूत्र की रासायनिक संरचना या केमिकल कम्पोजीशन

  • 95% पानी और 2.5% यूरिया
  • 24 तरह के साल्ट
  • हॉर्मोन्स
  • आयरन, कैल्शियम, फॉस्फोरस
  • पोटाश, नाइट्रोजन, मैंगनीज
  • सल्फर, फोस्फेट्स, पोटैशियम
  • यूरिया, यूरिक एसिड
  • एमिनो एसिड्स, प्रोटीन्स
  • साइटोकाइन और लैक्टोस

गाय के मूत्र के नैदानिक ​​लाभ विस्तार से:

अब आप ही बताएं कि इतना जानने के बाद आप शायद और भी कुछ जानना चाहेंगे? तो, कोई बात नहीं, आप इस लिंक “गोमूत्र के लाभों

” पर और भी जानकारी पा सकते हैं।

 

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published.